भ्रष्टाचार के आरोप के बाद बांग्लादेश ने कंपनी से छीना प्रोजेक्ट, बीजिंग कनेक्टिविटी का सपना चकनाचूड़

66 pm
नई दिल्ली (Sting Operation)- बांग्‍लादेश ने चीन की एक बड़ी कंपनी के साथ चल रही सड़क निर्माण परियोजना को रद कर दिया। यह कंपनी ढाका सिलहट राजमार्ग का निर्माण कर रही थी। कंपनी के अधिकारियों पर रिश्वत देने का आरोप लगा है। भ्रष्टाचार के आरोप के बाद कंपनी को ब्‍लैक लिस्‍ट कर दिया गया है।
वॉयस ऑफ अमेरिका की एक रिपोर्ट में यह बात सामने आई है। सरकारी अधिकारियों को रिश्‍वत देने के लिए बांग्‍लादेश सरकार की ओर से चाइना हार्बर इंजीनियरिंग कंपनी लिमिटेड को ब्‍लैक लिस्‍ट किया गया है और उसे भविष्‍य में बांग्‍लादेश की किसी भी निर्माण परियोजना में हिस्‍सा लेने की इजाजत नहीं होगी। रिपोर्ट में बांग्‍लादेश के वित्‍त मंत्री के हवाले से यह बात कही गई है। उन्‍होंने बांग्‍लादेशी मीडिया ‘द डेली स्‍टार’ को दिए एक इंटरव्यू में इसका खुलासा किया।
यह कंपनी पूर्व में कई जानेमानी परियोजनाओं का जिम्‍मा संभाल चुकी है। इसमें पाकिस्‍तान का ग्‍वादर और श्रीलंका का हनबटोटा पोर्ट शामिल है। वित्‍त मंत्री के अनुसार, कंपनी ने बांग्‍लादेश हाईवे ट्रांसपोर्ट एंड ब्रिजेज डिपार्टमेंट के नव-निर्वाचित डायरेक्‍टर को घूस देने की कोशिश की थी, जिसका मकसद परियोजना के फंड से जुड़ा था। डायरेक्‍टर को करीब पांच मिलियन टका देने का प्रस्‍ताव रखा गया था।
भ्रष्टाचार के मामले इस घटना के कारण वित्‍त मंत्री को परियोजना को रद और कंपनी को ब्‍लैकलिस्‍ट करना पड़ा।
रिपोर्ट के अनुसार, निवेश की शर्तों को लेकर पिछले कुछ समय से चीन और बांग्‍लादेश के बीच तनावपूर्ण माहौल चल रहा है। अक्‍टूबर 2016 में जब चीनी राष्‍ट्रपति शी चिनफिंग ने बांग्‍लादेश का दौरा किया था, तब उन्‍होंने 21.5 मिलियन डॉलर की 26 परियोजनाओं को उन्‍हें सौंपा था। हालांकि समझौते के समय चीनी कंपनियों ने निवेश की राशि में बदलाव करने की कोशिश की।
जब बांग्‍लादेश ने चीनी सरकार से इस पर नाराजगी जाहिर की तो इसके बाद इस पर कोई निर्णायक कार्रवाई नहीं हुई। बांग्‍लादेशी मीडिया के हवाले से रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि सीचीईसी नामक चीनी निर्माण कंपनी भी भ्रष्‍टाचार में लिप्‍त रह चुकी है। कंपनी ने बांग्‍लादेश के अधिकारियों को रिश्‍वत देने की कोशिश की थी।

About Sting Operation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

themekiller.com