पंचकूला हिंसा: चार्जशीट में डेरा प्रमुख का जिक्र नहीं! हनीप्रीत, विपासना जिम्मेदार

2 hinsa
चंडीगढ़ (Sting Operation)- पंचकूला हिंसा के लिए हनीप्रीत को जिम्मेदार ठहराया गया है। सूत्रों के मुताबिक मामले की जांच कर रही एसआईटी की आरोप पत्र में डेरा प्रमुख राम रहीम का जिक्र नहीं है। पिछले साल 25 अगस्त को राम रहीम को यौन शोषण मामले में सजा सुनाए जाने के बाद हिंसा भड़क गई थी। इससे करीब 120 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति का नुकसान हुआ है।
इस हिंसा की जांच करने वाली एसआईटी ने पंचकूला कोर्ट में 1800 पन्नों की एक चार्जशीट फाइल की है। जिसमें एक हजार पन्नों की मूल चार्जशीट है और 800 पन्नों की सप्लीमेंट्री चार्जशीट है। दोनों हिस्सों में पंचकूला समेत पूरे प्रदेश में फैली हिंसा का विस्तार से ब्योरा दिया गया है। इसमें कहा गया है कि जुलाई 2017 में हुई पेशी के दौरान राम रहीम तथा हनीप्रीत को यह पता चल गया था कि बलात्कार के मामले में राम रहीम को सजा हो सकती है। इसके चलते हनीप्रीत ने ही रणनीति तैयार की। इसमें अहम भूमिका डेरा सच्चा सौदा की चेयरपर्सन विपासना इंसा तथा आदित्य इंसा ने निभाई थी।
एसआईटी ने अपनी चार्जशीट में डेरे से जुड़े कई लोगों के नाम तथा उनका उल्लेख किया है। सूत्रों के अनुसार गुरमीत राम रहीम को हिंसा के लिए जिम्मेदार नहीं माना गया है।

About Sting Operation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

themekiller.com