सोनिया गांधी की अध्यक्षता में सरकार को घेरेगा विपक्ष, महागठबंधन की जमीन भी होगी तैयार

2 sonia

नई दिल्ली (Sting Operation)- एकजुट होकर सरकार को घेरने के लिए यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुरुवार शाम विपक्षी दलों की बैठक बुलाई है। इसमें बजट सत्र की रणनीति के साथ आगामी लोकसभा चुनाव में महागठबंधन की भी जमीन तैयार की जाएगी।
संसद का बजट सत्र शुरु होते ही राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष शरद पवार ने विपक्षी दलों को एकजुट करने की पहल की थी। पर कांग्रेस ने एक कदम आगे बढ़ते हुए गुरुवार शाम को करीब डेढ़ दर्जन विपक्षी दलों की बैठक बुलाई है।
बैठक में भाजपा के खिलाफ संभावित गठबंधन की संभावनाओं को तलाशने के लिए मौजूदा सत्र में न्यायपालिका में संकट, कासगंज हिंसा, बेरोजगारी, महंगाई और सीमा पार आतंकवाद जैसे मुद्दों पर सरकार को घेरने पर चर्चा होगी।
यूपीए अध्यक्ष के तौर सोनिया गांधी के यह बैठक बुलाने की अहम वजह विपक्षी दलों के साथ बेहतर समन्वय बनाना है। क्योंकि, एनसीपी प्रमुख शरद पवार, तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी और सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव सहित पुरानी पीढ़ी के नेता कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ सहज महसूस नहीं करेंगे।
भाजपा के खिलाफ गठबंधन का दावा
कांग्रेस रणनीतिकार मानते हैं कि वह सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी है। ऐसे में भाजपा के खिलाफ गठबंधन का नेतृत्व करने का स्वभाविक दावा भी उसी का है। भाजपा जिस तरह राहुल पर हमलावर है, इससे साफ है कि सत्ताधारी दल भी कांग्रेस अध्यक्ष को मुख्य विपक्षी नेता मानती हैं।
युवा नेताओं को राहुल से दिक्कत नहीं
पार्टी नेताओं का कहना है कि दूसरी पीढ़ी के अखिलेश यादव, तेजस्वी यादव, एमके स्टालिन और सुप्रिया सुले सहित अन्य नेताओं को राहुल गांधी का नेतृत्व स्वीकार करने में कोई दिक्कत नहीं होगी। इसके साथ कांग्रेस नेता मानते हैं कि जिस प्रदेश गठबंधन का जो दल मजबूत है, उसे उस प्रदेश में नेतृत्व का स्वाभाविक हक है।

About Sting Operation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

themekiller.com