नूर वली बना तहरीक-ए-तालिबान का नया प्रमुख, फजलुल्लाह का होगा उत्तराधिकारी

32 chief-mufti-noor
लाहौर (Sting Operation)- पाकिस्तान में प्रतिबंधित आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (TTP) ने मुल्ला फजलुल्लाह की जगह नया प्रमुख नियुक्ति किया है। अब मुफ्ती नूर वली मसूद को अपना नया प्रमुख बनाया है। वहीं, मुफ्ती माझिम उर्फ मुफ्ती हफजुल्ला को नंबर दो की जगह दी गई है। पाकिस्तानी तालिबान के प्रवक्ता मोहम्मद खुरासानी ने शनिवार को इसका ऐलान किया।
बता दें कि नोबेल शांति पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई की हत्या करने का आदेश देने वाला आतंकी फजलुल्लाह इस महीने की शुरुआत में अफगानिस्तान के कुनार प्रांत में एक अमेरिकी ड्रोन हमले में मारा गया था। जिसके बाद पाकिस्तानी तालिबान का प्रवक्ता मोहम्मद खुरासानी ने बताया कि तालिबान परिषद ने महसूद को फजलुल्लाह का उत्तराधिकारी बनाया है। साथ ही खुरासानी ने पहली बार ये भी स्वीकार किया कि फजलुल्लाह अफगानिस्तान के कुनार प्रांत में ड्रोन हमले में मारा गया।
अब मसूद लेगा TTP के सारे फैसले
पाकिस्तान के मशहूर अखबार ‘डॉन’ की रिपोर्ट के मुताबिक, अब मुफ्ती नूर वली मसूद ही टीटीपी के सारे फैसले लेगा। टीटीपी से जुड़े सूत्रों ने बताया कि महसूद दक्षिणी वजीरिस्तान के तियारजा इलाके का रहने वाला है। उसने पाकिस्तान के विभिन्न मदरसों में पढ़ाई की है। मसूद एक किताब भी लिख चुका है। उर्दू में लिखी‘इंकलाब-ए-महसूद दक्षिण वजीरिस्तान: फिरंगी राज से अमरीकी साम्राज्य तक’किताब में कई दावे किए गए हैं। अपनी किताब में उसने तालिबान की ओर से पहली बार दावा किया है कि रावलपिंडी में 2007 में हुई पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो की हत्या में टीटीपी के आतंकियों का हाथ था।
32 chief-mufti-noor
– आतंकी फजलुल्लाह पाकिस्तान के प्रतिबंधित आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान का मुखिया था।
– टीटीपी को सितंबर 2010 में वैश्विक आतंकवादी संगठन घोषित कर उस पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।
– बता दें कि मुल्ला फजलुल्लाह वहीं खूंखार आतंकी है, जिसने सबसे ज्यादा पाकिस्तान को खून के आंसू रुलाये। हालांकि फजलुल्लाह को पालने-पोसने वाला भी पाकिस्तान ही थी।
– दिसंबर, 2014 में पेशावर के आर्मी पब्लिक स्कूल में हुए नरसंहार के मास्टरमाइंड भी फजलुल्लाह ही था। इस आतंकी हमले में150 से ज्यादा मासूम बच्चों का खत्लेआम कर दिया गया था।
– फजलुल्लाह अमेरिका की मोस्ट वांटेड आतंकियों की लिस्ट में था और उस पर करीब 32.5 करोड़ रुपये का इनाम था।
– उसी ने नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई पर हमला करवाया था।

About Sting Operation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

themekiller.com