13 दंगों की जांच रिपोर्ट गृह मंत्रालय की वेबसाइट पर नहीं मौजूद

नई दिल्ली: केंद्रीय सूचना आयोग ने गृह सचिव को निर्देश दिया है कि 1961 से देश में हुए सांप्रदायिक दंगों पर 13 जांच आयोग की रिपोर्ट की स्थिति का पता लगाने के लिए एक अधिकारी की तैनाती करें.इस बाबत गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने दावा किया कि उनके पास दंगों से जुड़ी रिपोर्ट नहीं है.आरटीआई कार्यकर्ता अंजलि भारद्वाज की याचिका पर सुनवाई करते हुए सूचना आयुक्त बिमल जुल्का ने यह निर्देश दिया.भारद्वाज ने सांप्रदायिक दंगों पर विभिन्न जांच आयोगों या न्यायिक आयोगों की संपूर्ण रिपोर्टों (सभी खंड एवं अनुलग्नक) पर जानकारी मांगी थी.सीआईसी ने गृह सचिव राजीव गाबा को निर्देश दिया कि वह उन 13 रिपोर्टों की स्थिति का पता लगाने के लिए एक वरिष्ठ अधिकारी की तैनाती करें जो मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध नहीं है.भारद्वाज ने कहा कि मंत्रालय ने 2006 में सांप्रदायिक दंगों की जांच करने के लिए नियुक्त विभिन्न न्यायिक और जांच आयोगों की रिपोर्टों का अध्ययन करने के लिए राष्ट्रीय एकता परिषद का एक कार्य समूह गठित किया था.उन्होंने कहा कि समूह ने 29 ऐसे मामलों की जांच की थी.उन्होंने कहा कि उन्हें गृह मंत्रालय की वेबसाइट पर 1961 से 2003 के बीच हुए दंगों के संबंध में 13 जांच या न्यायिक आयोग की रिपोर्टें नहीं मिलीं. लिहाज़ा भारद्वाज ने उनकी प्रति (कॉपी) के लिए आरटीआई आवेदन दायर किया.

About Sting Operation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

themekiller.com