नशे के खिलाफ कार्रवाई न होने का लगाया आरोप कांग्रेस ने अपने विधायक को पार्टी से निलंबित कर दिया

नशे के खिलाफ सार्वजनिक मंच से आवाज उठाने वाले जीरा (फिरोजपुर) के कांग्रेस विधायक कुलबीर जीरा को पार्टी से निलंबित कर दिया गया है। उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई है। पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने कहा कि अपनी बात रखना सभी का हक है, लेकिन सार्वजनिक रूप से किसी पर इस तरह के आरोप लगाना गलत है। इससे पूर्व जीरा को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। जीरा को नोटिस दिए जाने बाद पार्टी के विधायकों और विभिन्न विंगों के प्रधानों का साथ उन्हें मिल रहा था।विधायक कुलबीर जीरा ने 12 जनवरी को नवनिर्वाचित सरपंचों एवं पंचों के नशे के खिलाफ शपथ ग्रहण समारोह का यह कहकर बहिष्कार किया था। उन्होंने कहा था कि फिरोजपुर जिले में अवैध शराब की बिक्री के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।एक तरफ सरकार बेहद संजीदगी से बार-बार यह प्रोजेक्ट करने की कोशिश कर रही है कि पंजाब से नशा खात्मे की कगार पर है। वहीं जीरा के रवैये ने सरकार की इमेज खराब कर दी थी। उन्होंने बैठे-बिठाए विपक्ष को मुद्दा दे दिया।जीरा ने खुद नोटिस के जवाब में तीखी प्रक्रिया दी थी। साथ ही पार्टी के विधायकों और विभिन्न विंगों के प्रधानों का साथ उन्हें मिल रहा था। दूसरी ओर पार्टी के दबाव के बावजूद जीरा ने फिरोजपुर के आईजी एमएस छीना पर सीधा हमला बोला था, जो आरोप जीरा ने लगाए थे, उसी तर्ज पर उन्होंने जवाब भी दिया। अब बुधवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने पुष्टि करते हुए बताया कि अनुशासनात्मक कार्रवाई के चलते जीरा काे पार्टी से बाहर कर दिया गया है।

About Sting Operation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

themekiller.com