रिश्वत लेते पकड़ा गया थाना अजनाला का एसएचओ मनजिंदर सिंह ..

विनोद कुमार/ विपन नाहर/ अजनाला.  केमिस्ट को नशीली दवा बेचने के आरोप में किया था गिरफ्तार 10 लाख रुपए मांगने का आरोप एसएचओ के खिलाफ शिकायत मिलने पर पुलिस ने 6 घंटे जांच के बाद की कार्रवाई : पूर्व थाना मुखी मनजिंदर सिंह को किया पुलिस से निष्कासित

कहा जाता है कि जब बाड़ ही खेत की फसल खाने लगे तो खेती भगवान भरोसे हो जाती है। यह कहावत अमृतसर के तहसील अजनाला के पुलिस थाने पर सही बैठती है यहां पर पुलिस इंस्पेक्टर

अजनाला थाने में बैठ 3 महीने से हुकूम चलाने वाला एसएचओ मनजिंदर सिंह रिश्वत लेने के आरोप में खुद ही सलाखों के पीछे हो गया। वीरवार को पुलिस ने थाने के अंदर ही उसकेे खिलाफ एफआईआर दर्ज की और उसे अरेस्ट कर लिया। यह एसएचओ एक कैमिस्ट को छोड़ने की एवज में 10 लाख रुपए की रिश्वत मांग रहा था। सात लाख रुपए ले चुका था और तीन लाख रुपए के लिए परिजनों को परेशान कर रहा था। 15 मार्च को केमिस्ट दीपक के खिलाफ थाना अजनाला में नशीली दवा बेचने के आरोप में एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था।

सात लाख लेने के बाद परिवार को तंग कर रहा था :

जानकारी के अनुसार एसएचओ मनजिंदर सिंह ने एनडीपीएस एक्ट में पकड़े गए आरोपी को बचाने के लिए 10 लाख रुपए की मांग की थी। परिवार ने उधार लेकर सात लाख रुपए उन्हें दे भी दिए, लेकिन एसएचओ उन्हें पिछले एक महीने से बाकी के तीन लाख रुपए के लिए परेशान कर रहा था। पटवारी वाली गली कलगीधर गुरुद्वारे के पास रहने वाले धीरज कुमार ने अपनी शिकायत में बताया था कि उसका भाई दीपक कुमार का चौगांवां रोड अजनाला में मेडिकल स्टोर है। 15 मार्च को उसके भाई के खिलाफ थाना अजनाला में एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर अरेस्ट किया था। आरोप था कि उसी रात एसएचओ ने उनके घर आकर 10 लाख रुपए की मांग की थी।

15 मार्च की रात ही आरोपी एसएचओ अपने साथ 1 लाख रुपए ले गया। उसके बाद धीरज कुमार ने एक-एक लाख रुपए अपने चाचा राजेश कुमार व राकेश कुमार से लिए, दो लाख रुपए अपने बैंक से निकलवाए व एक लाख खुद दिया, एक लाख रुपए अन्य भाई दीपक कुमार के ससुर रजिंदर कुमार से उधार लिए औैर 8 अप्रैल को एसएचओ मनजिंदर को सौंप दिए, लेकिन तीन लाख रुपए के लिए एसएचओ मनजिंदर सिंह उन्हें धमकियां देना शुरू हो गया। छह घंटे की तफ्तीश के बाद एसपी (डी) हरपाल सिंह ने एसएचओ को थाने में ही गिरफ्तार करके मामला दर्ज कर लिया।  वहीं इस मौके पर पूर्व थाना मुखी मनजिंदर सिंह को अजनाला की अदालत में पेश किया गया जहां पर कोर्ट की तरफ से पुलिस को मनजिंदर सिंह से पूछताछ करने के लिए 2 दिन का रिमांड दे दिया गया है

वहीं इस मौके पर जब पुलिस थाना मुखी मनजिंदर सिंह से इस मामले में बातचीत की तो उन्होंने पैसे लेने की बात को साफ इंकार कर दिया और सियासी दबाव का हवाला देते हुए कहा कि मुझे फंसाया जा रहा है.

एस.एस.पी. देहाती परमपाल सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा के जो भी ऑफिसर ऐसे दागदार पाया जाएगा उसे कभी माफ माफ नहीं किया जाएगा उसके साथ सख्ती से पेश आया जाएगा

About Sting Operation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

themekiller.com