Airtel 3G सर्विस बंद होने के बाद भी यूजर्स को होगा फायदा

airtel3g

नई दिल्ली। प्राइवेट सेक्टर की कंपनी Airtel ने अपने 3G सर्विस को बंद करने की शुरुआत कर दी है। अगले साल मार्च तक देश के सभी शहरों और गावों से 3G सर्विस को बंद कर दिया जाएगा। Airtel की 3G सर्विस बंद करने की मुख्य वजह ARPU (Average Revenue Per User) पर फोकस करना है। पिछले कुछ सालों में ज्यादातर यूजर्स 2G से 4G में शिफ्ट हुए हैं। ऐसे में 3G सर्विस को बंद करने के अलावा कंपनी के पास कोई विकल्प नहीं है। Airtel ने अपने 3G को बंद करने की शुरुआत कोलकाता से की है। अगले महीने तक देश के अन्य 6-7 शहरों में भी Airtel की 3G सेवा बंद कर दी जाएगी। इस बात की जानकारी कंपनी के CEO गोपाल विठ्ठल ने दी है।Airtel CEO के मुताबिक, अप्रैल 2020 से कंपनी केवल दो नेटवर्क सेवा 2G और 4G ही यूजर्स को उपलब्ध कराएगी। ऐसे में जिन यूजर्स के पास 3G स्मार्टफोन हैं उन्हें केवल 2G नेटवर्क की ही सेवा मिल सकेगी। इन यूजर्स को इंटरनेट कनेक्टिविटी में दिक्कत आ सकती है। ऐसे में इन यूजर्स के पास 4G में स्वीच करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा। हालांकि, इसमें यूजर्स को फायदा ही होने वाला है। उनको बेहतर इंटरनेट कनेक्टिविटी मिलेगी और साथ ही 4G के जरिए वो HD कॉल का आनंद ले सकेंगे।रिलायंस Jio से मिल रही चुनौती की वजह से कंपनी धीरे-धीरे केवल 4G नेटवर्क पर ही फोकस कर रही है। आपको बता दें कि रिलायंस Jio एकलौती ऐसी कंपनी है जो केवल 4G सेवा प्रदान करती है। इसके बावजूद महज तीन साल में सब्सक्राइबर के मामले में ये देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी बन गई है।Airtel ने पिछले दिनों 8.4 मिलियन 4G यूजर्स जोड़े हैं और इसके साथ ही कंपनी के कुल 120 मिलियन डाटा यूजर्स हो गए हैं। इन डाटा यूजर्स में से 95 मिलियन यूजर्स ऐसे हैं जो 4G का इस्तेमाल करते हैं। डाटा यूसेज की बात करें तो Airtel यूजर्स एक महीने में 11GB डाटा का इस्तेमाल करते हैं। वहीं, Airtel अपने 3G नेटवर्क के लिए इस्तेमाल करने वाले 900 और 2100 MHz बैंड को खाली करेगा। जिसका इस्तेमाल 5G की टेस्टिंग के लिए किया जा सकता है।

About Sting Operation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

themekiller.com