इरान के विदेश मंत्री ने ट्वीट कर कहा- जेल वार्डेन से अधिक कुछ नहीं U.S. Treasury

irankevi

दुबई। इरान के विदेश मंत्री मोहम्‍मद जवाद जरीफ ने गुरुवार को अमेरिकी ट्रेजरी की तुलना जेल वार्डेन से की। उन्होंने इस बात का जिक्र अपने ट्वीट में किया। उन्‍होंने कहा कि दुस्‍साहस करने पर अमेरिका की ओर से दंडित किया जाता है। बता दें कि इरानी तेल की तस्‍करी को रोकने के लिए वाशिंगटन ने नए प्रतिबंध लगाए जिसके बाद इरान की ओर से यह प्रतिक्रिया दी गई है।अमेरिका ने बुधवार को एक जहाज नेटवर्क ‘ऑयल फॉर टेरर’, जहाजों के साथ उन सभी कंपनियों पर प्रतिबंध लगा दिया जिसे कथित तौर पर इरान के इस्‍लामिक रिवॉल्‍यूशनरी गार्ड कॉर्प्‍स (IRGC) की ओर से संचालित किया जाता है।अमेरिकी ट्रेजरी ने अपनी वेबसाइट पर जारी किए गए एक बयान में बताया है कि इरान स्पेस एजेंसी, इरान स्पेस रिसर्च सेंटर एंड द एस्ट्रोनॉटिक्स रिसर्च इंस्टीट्यूट पर प्रतिबंध लगाया गया है। अमेरिका का कहना है कि इस जहाज नेटवर्क ने सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद को फायदा पहुंचाने के लिए लाखों बैरल तेल बेचा है। इस नेटवर्क का संचालन ईरान रिवॉल्यूशनरी गार्ड कर रहा था।उल्‍लेखनीय है कि इरान की ओर से अमेरिका को चेतावनी दी गई थी कि यदि वाशिंगटन की ओर से तेहरान पर दबाव कम नहीं होता है तो परमाणु समझौते के तहत की गई अपनी प्रतिबद्धताओं में इरान कटौती कर सकता है। इसके बाद ही अमेरिका ने 16 कंपनियों, 10 लोगों और 11 जहाजों पर प्रतिबंध लगाने का एलान किया। जिन संस्थाओं को नए प्रतिबंधों का सामना करना पड़ रहा है, उनमें अमेरिका के सहयोगी भारत में स्थित मेहदी समूह और इसके निदेशक अली जहीर मेहदी शामिल हैं।विदेश मंत्री ने ट्वीट कर कहा, ‘अमेरिकी ट्रेजरी (OFAC) जेल वार्डेन से अधिक कुछ नहीं है, माफी के लिए कहेंगे तो आपके इस दुस्‍साहस के लिए एकांत में रखा जाएगा और अगर दोबारा पूछने की हिम्‍मत की तब तो सूली पर चढ़ने से कोई नहीं बचा सकता।’पिछले साल से इरान और अमेरिका के बीच तनाव बढ़ गया है। जब राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने इरान परमाणु समझौते से अपने देश के अलग होने की घोषणा की थी। इसके बाद अमेरिका ने इरान पर कई प्रतिबंध लगा दिए।

About Sting Operation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

themekiller.com