विक्रम से संपर्क टूटा है, सपने अभी जिंदा हैं; पढ़ें क्या बोलीं प्रियंका और ममता बनर्जी

vikramse

नई दिल्ली। आधी रात का वक्त था और पूरा देश बड़ी ही बेसब्री से लैंडर विक्रम के चांद की धरती को चूमने और खुशी में झूमने का इंतजार कर रहा था। दुर्भाग्य से ऐसा नहीं हुआ, लेकिन यह भारत और इसरो की असफलता नहीं है। स्पेस साइंस में भारत ने चंद्रयान-2 के जरिए नया इतिहास रचा है। चांद पर उतर रहे लैंडर विक्रम से भले ही संपर्क टूट गया, लेकिन सवा अरब भारतीयों की उम्मीदें नहीं टूटी हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी सहित तमाम नेताओं ने इसरो से कहा है कि देश को उन पर गर्व है।देर रात करीब 1.51 बजे चंद्रमा की सतह से 2.1 किमी दूर इसरो का लैंडर विक्रम से संपर्क टूट गया। चंद्रयान-2 की कुल लागत 978 करोड़ रुपये है और भले ही लैंडर विक्रम से संपर्क टूट गया हो, ऑर्बिटर से अब भी इसरो और पूरे देश को उम्मीदें हैं। ऑर्बिटर विक्रम से भले ही उम्मीदें टूट गई हों, लेकिन भारतीय वैज्ञानिकों ने एक ऐसे मिशन पर हाथ डाला, जिसकी सफलता को लेकर पहले ही दिन से संशय की स्थिति थी। शायद यही कारण है कि इसरो पहले से ही अंतिम 15 मिनट को बेहद खतरनाक और महत्वपूर्ण मान रहा था। चंद्रयान-2 मिशन को पूरी तरह से फेल नहीं कहा जा सकता है, इसलिए भारत की इस स्पेस एजेंसी को तमाम लोग बधाई दे रहे हैं। सभी ने कहा कि आपकी उपलब्धियों पर हमें गर्व है।कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने चंद्रयान 2 मिशन पर आधिकारिक बयान जारी किया है।वहीं चंद्रयान 2 को लेकर प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘इसरो टीम में प्रत्येक पर गर्व है। असफलता यात्रा का एक हिस्सा है। उसके बिना कोई सफलता नहीं मिलती है। पूरा देश आपके साथ खड़ा है और आप पर विश्वास करता है।’
PM Modi ने बढ़ाया हौसला;-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ISRO वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाया है। उन्होंने कहा, आपने बहुत अच्छा काम किया है। जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं और यह यात्रा जारी रहेगी। पीएम मोदी ने कहा, ‘जब मिशन बड़ा होता है तो निराशा से पार पाने की हिम्मत होनी चाहिए. मेरी तरफ से आप सभी को बहुत बधाई है। आपने देश की मानव जाति की बड़ी सेवा की है।’
हर भारतीय को गर्व है:-केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी ISRO के वैज्ञानिकों को बधाई दी है। उन्होंने कहा, इसरो की कोशिशों से हर भारतीय गौरवान्वित है। लैंडर Vikram का ISRO केंद्र से संपर्क टूटने के कुछ ही मिनट बाद अमित शाह ने ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, ‘चंद्रयान-2 को लेकर अभी तक की इसरो की उपलब्धि पर प्रत्येक भारतीय को गर्व है।’ उन्होंने कहा, ‘भारत हमारे प्रतिबद्ध और कठिन मेहनत करने वाले इसरो के वैज्ञानिकों के साथ है। भविष्य की यात्रा के लिए मेरी शुभकामनाएं।’चंद्रयान को लेकर पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम ने इसरो का हौसला बढ़ाते हुए ट्वीट किया है। कार्ति ने महान वैज्ञानिक थॉमस एडीसन के एक वाक्य का उल्लेख करते हुए ट्वीट में लिखा ‘मैं फेल नहीं हुआ हूं। मुझे सिर्फ 10,000 ऐसे तरीके मिले हैं जो काम नहीं करेंगे’- थॉमस ए एडीसन राहुल गांधी ने कहा, ‘आपका का काम बेकार नहीं जाएगा। इसने कई बेजोड़ और महत्वाकांक्षी भारतीय अंतरिक्ष मिशनों की बुनियाद रखी है।’बेशक चंद्रयान 2 चंद्रमा तक पहुंचने में कामयाब नहीं रहा है, लेकिन इसरो के अथक प्रयास की सभी सराहना कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर देश दुनिया के तमाम नेताओं ने इसरो के प्रयासों की तारीफ की है। इस क्रम में अब एक और नया नाम जुड़ गया है। ये नाम है गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत का है। उन्होंने कहा कि बेशक इसरो का लैंडर व्रिकम से संपर्क टूट गया हो, लेकिन पूरे राष्ट्र को इसरो के वेज्ञानिकों पर गर्व है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पूरा देश इसरो के वेज्ञानिकों के साथ खड़ा है।
ममता बनर्जी ने की तारीफ:-पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और TMC सुप्रीमो ममता बनर्जी ने भी ISRO वैज्ञानिकों की तारीफ की है। उन्होंने अपने ट्वीट संदेश में लिखा – ‘हमें अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है। इसरो टीम ने चंद्रयान 2 के लिए कठोर मेहनत की। हम सब आपके साथ हैं। आप हमें हमेशा गौरवान्वित होने का मौका देते रहेंगे।’
केजरीवाल बोले वैज्ञानिकों पर गर्व है:-दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी विक्रम लैंडर से संपर्क टूट जाने के बाद भी चंद्रयान-2 मिशन में ISRO वैज्ञानिकों ने बेहतरीन कार्य किया। केजरीवाल ने कहा, ‘हमें अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है। उन्होंने, इतिहास रचा है। निराश होने की जरूरत नहीं है। हमारे वैज्ञानिकों ने उम्दा काम किया है। जय हिंद।’चंद्रयान-2 मिशन को लेकर सीपीएम(आइ) नेता सीताराम येचुरी ने भी बधाई दी है। उन्होंने कहा कि हमारे वैज्ञानिक मील के पत्थर के इतिहास ने हमें दिखाया है कि कैसे लड़ाई और संघर्ष निरंतर रहा है।केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने कहा, ‘हम आपके साथ हैं इसरो… आपने अंतरिक्ष में अपनी उपलब्धियों को महसूस कराने के लिए राष्ट्र, इसके युवा दिमाग और सभी को एक साथ लाया है। आपको सफलता मिलेगी।
तारिक फतेह कहा थैक्यू डॉ. के सिवन;-मशहूर बलोच नेता और पत्रकार तारिक फतेह ने इसरो प्रमुख डॉ. के सिवन को इस अभियान के लिए शुक्रिया कहा है। उन्होंने अपने ट्वीट संदेश में लिखा, ‘तो क्या हुआ अगर विक्रम से हमारा संपर्क टूट गया तो। इंसाह अल्लाह #ISRO इसरो अगली बार हमें वहां लेकर जाएगा… जय हिंद! उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी वैज्ञानिकों को बधाई दी है। उन्होंने कहा, ‘हमें भारतीय वैज्ञानिकों, उनके परिश्रम, प्रतिभा और विजन पर गर्व है। आप सभी निरंतर हमारे प्रेरणा के स्रोत हैं। पूरा देश आप सभी के साथ खड़ा है।’

About Sting Operation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

themekiller.com