पूरे देश में जनता कर्फ्यू का असर, दिल्ली से लेकर गुजरात की सड़कों पर दिखा सन्नाटा

pooredesh

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (COVID-19) के कारण बनी संकट की स्थिति के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर आज देश में सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक ‘जनता क‌र्फ्यू’ रहेगा। देश ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई प्रतिबद्धता से लड़ रहा है। जनता कर्फ्यू का असर पूरे देश में देखने को मिल रहा है। उत्तर प्रदेश, दिल्ली, जम्मू कश्मीर, महाराष्ट्र समेत देश के सभी राज्यों में सन्नाटा पसरा हुआ है।उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रविवार को कहा कि ‘जनता कर्फ्यू’ के दौरान लोगों द्वारा दिखाए गए विश्वास ने बता दिया है कि देश कोरोना वायरस को हराने में सफल रहेगा।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनता कर्फ्यू के आह्वान मद्देनजर आज पूरे देश में लगभग 7 करोड़ व्यापारियों और उनके 40 करोड़ कर्मचारियों ने घर पर रहने का फैसला किया है। समाचार एजेंसी आइएएनएस ने कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT)के हवाले से ये जानकारी दी है। व्यापारियों के शीर्ष निकाय ने पीएम मोदी से नेशनल लॉकडाउन की घोषणा करने का आग्रह किया।
वर्क फ्रॉम होम कर रहे राजनाथ सिंह:-‘जनता क‌र्फ्यू’ के मद्देनजर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज जनता कर्फ्यू के मद्देनजर वर्क फॉम होम कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने जनता कर्फ्यू को सफल बनाने की भी अपील की है। उन्होंने ट्वीट करके कहा , ‘मैं सभी से अपील करता हूं कि आपात स्थिति और महत्वपूर्ण क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों को छोड़कर घर रहने या वर्क फ्रॉम होम करने कि अपील करता हूं। जनता कर्फ्यू के लिए प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान का समर्थन करें।’
सड़कें सुनसान पड़ी:-जनता क‌र्फ्यू का असर देश में दिखना लगा है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश,पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु समेत अन्य राज्यों में सड़कें सुनसान पड़ी हुई हैं। इसी बीच दिल्ली में बाहर निकले लोगों को पुलिसवाले फूल देकर घर में रहने का अनुरोध कर रहे हैं। बता दें कि कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में पीएम मोदी की अपील पर आज पूरे देश में जनता कर्फ्यू है।
जम्मू-कश्मीर के डोडा में सड़कें खाली;-जनता कर्फ्यू के दौरान जम्मू-कश्मीर के डोडा में सड़कें खाली नजर आईं। जनता कर्फ्यू को सफल बनाने के लिए जम्मू-कश्मीर पुलिस ने लोगों से अपने घरों में ही रहने की अपील की।
3700 ट्रेनें स्थगित:-जनता कर्फ्यू पर अमल करते हुए रेलवे ने 21 मार्च की आधी रात से 3700 ट्रेनें स्थगित कर दी हैं, ये ट्रेने 22 मार्च रात दस बजे तक नहीं चलेंगी। संक्रमण अधिकांश विदेश से आने वाले यात्रियों की वजह से देखने को मिला है। इसे देखते हुए भारत ने पूरी दुनिया से अपना संपर्क एक तरह से काट लिया है। अब विदेश में फंसे भारतीयों को लाने के लिए आने-जाने वाली विशेष उड़ानों के अलावा किसी अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट को एक सप्ताह तक उतरने की इजाजत नहीं होगी। जनता क‌र्फ्यू के लिए कई निजी एयरलाइनों ने भी रविवार को अपनी उड़ानों में काफी कमी कर दी है। इसी तरह भारत ने नेपाल और पाकिस्तान से लगी अपनी सड़क सीमाओं को भी बंद कर दिया है। नेपाल के लिए केवल आवश्यक सेवाओं की आपूर्ति से जुड़े वाहनों को ही प्रवेश की छूट होगी।
ट्रैफिक पुलिसवालों को हैंड सेनेटाइजर दिया:-जनता कर्फ्यू पर बिहार के पटना में रहने वाले राकेश चौधरी ने ट्रैफिक पुलिसवालों को हैंड सेनेटाइजर दिया। देश में कोरोना प्रकोप देखते हुए उन्होंने कहा कि पूरा देश कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। इससे लड़ने का मेरा तरीका है।
कोरोना के खिलाफ लड़ाई को सफल बनाएं- पीएम मोदी:-पीएम मोदी ने आज सुबह ट्वीट कर कहा ‘जनता कर्फ्यू शुरू हो रहा है। मेरी विनती है कि सभी नागरिक इस देशव्यापी अभियान का हिस्सा बनें और कोरोना के खिलाफ लड़ाई को सफल बनाएं। हमारा संयम और संकल्प इस महामारी को परास्त करके रहेगा। बता दें कि ये 14 घंटे पूरे देश के लिए बेहद अहम हैं। इस दौरान देशवासियों का संयम एक बड़ी महामारी के चक्र को तोड़ने में सहायक हो सकता है।’
शाह का ट्वीट कड़ाई से करेंगे जनता कर्फ्यू का पालन:-केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि वह जनता कर्फ्यू का कड़ाई से पालन करेंगे और देश को भी इससे जुड़ने का आग्रह किया। एक ट्वीट में उन्होंने कहा कि लोगों को इस चेन को तोड़ने में मदद करनी चाहिए और इस महामारी से देश को बचाने में मदद करनी चाहिए।
सबका मिल रहा साथ:-जनता क‌र्फ्यू की पीएम की अपील पर चौतरफा सकारात्मक पहल दिख रही है। उत्तर प्रदेश, बिहार, पंजाब, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, केरल और दिल्ली समेत सभी राज्य सरकारों ने जनता क‌र्फ्यू को सफल बनाने के लिए अपनी-अपनी तरफ से कदम उठाने का एलान किया है। दिल्ली ने जहां दिहाड़ी कामगारों को मुफ्त राशन देने और पांच से अधिक लोगों के इकठ्ठा होने पर पाबंदी की घोषणा की है। वहीं अन्य राज्यों ने लोगों से रविवार को अपने घरों में ही रहने और बाहर निकलने से बचने की सलाह दी है। निजी कंपनियों, व्यापारी संगठनों ही नहीं अधिकांश राजनीतिक दलों, बॉलीवुड हस्तियों से लेकर उद्योग जगत के प्रमुख चेहरों ने भी जनता क‌र्फ्यू का पूरा समर्थन करने का एलान किया है।
मुंबई की लोकल ट्रेनों से यात्रा करने पर पाबंदी;-महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है। इसके मद्देनजर रेलवे ने आज से आम लोगों के लिए मुंबई की लोकल ट्रेनों से यात्रा करने पर पाबंदी लगाने का फैसला किया। यानी, 22 मार्च से आम लोग मुंबई लोकल से सफर नहीं कर पाएंगे।
हमारा संयम और संकल्प इस महामारी को परास्त करके रहेगा: मोदी:-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह ट्वीट कर कहा कि जनता कर्फ्यू शुरू हो रहा है। मेरी विनती है कि सभी नागरिक इस देशव्यापी अभियान का हिस्सा बनें और कोरोना के खिलाफ लड़ाई को सफल बनाएं। हमारा संयम और संकल्प इस महामारी को परास्त करके रहेगा।
महानगरों में मेट्रो व नगरीय ट्रेन सेवाएं भी नहीं चलेंगी:-दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता जैसे महानगरों में मेट्रो व नगरीय ट्रेन सेवाएं भी नहीं चलेंगी। शनिवार रात 12 बजे से हफ्तेभर के लिए भारत आने और जाने वाली सभी नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को भी स्थगित कर दिया गया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शनिवार को सभी राज्यों को दिशानिर्देश जारी कर जनता क‌र्फ्यू के दौरान लोग बाहर न निकलें, यह सुनिश्चित करने को कहा है। जनता ने भी शनिवार को बाजारों, दफ्तरों और आवाजाही में बेहद कमी लाते हुए जनता क‌र्फ्यू को ऐतिहासिक बनाने की अपनी इच्छाशक्ति का संदेश दिया है। कोरोना का संक्रमण एक-दूसरे की निकटता की वजह से न फैले इसके मद्देनजर जनता क‌र्फ्यू इस वायरस के खिलाफ जंग में भारत का निर्णायक कदम माना जा रहा है।
वीरान पड़ा मुंबई का लोकमान्य तिलक टर्मिनस;-मुंबई का लोकमान्य तिलक टर्मिनस वीरान पड़ा हुआ है। बता दें कि जनता कर्फ्यू’ के मद्देनजर 22 मार्च को रात 10 बजे तक सभी पैसेंजर और इंटरसिटी ट्रेनें रद हैं।
रात 10 बजे तक सभी पैसेंजर और इंटरसिटी ट्रेनें रद:-जनता कर्फ्यू’ के मद्देनजर 22 मार्च को रात 10 बजे तक सभी पैसेंजर और इंटरसिटी ट्रेनें रद कर दी गई हैं। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के बाहर फंसे यात्री।
भारत में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर पहुंची 315:-भारत में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर 315 जा पहुंची है। इनमें से 22 लोगों को इलाज के बाद छुट्टी भी मिल गई है। हालांकि 4 लोगों की मौत हो गई। कई राज्यों ने इस महामारी पर रोक लगाने के लिए लोगों की आवाजाही और भीड़भाड़ को सीमित करने के अलावा कई एहतियाती उपायों की घोषणा की है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर आज सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू की घोषणा की गई है। इस दौरान लोग घर पर ही रहेंगे और संक्रमण को फैलने से रोकने में सरकार की मदद करेंगे।
भारत में तेजी से बढ़ रहे मामले:-भारत में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। देश में अभी तक कोरोना वायरस के मामले की संख्या 322 हो गई है।शनिवार को देश में 55 नए मामले सामने आए। वहीं 23 लोग ठीक हो गए हैं और 4 लोगों की मौत भी हो गई है। कोरोना वायरस (COVID-19) के कारण बनी संकट की स्थिति के बीच देश आज रविवार सुबह सात से रात नौ बजे के बीच ‘जनता क‌र्फ्यू’ के 14 घंटे पूरे देश के लिए बेहद अहम होंगे। इस दौरान देशवासियों का संयम एक बड़ी महामारी के चक्र को तोड़ने में सहायक हो सकता है।
जनता क‌र्फ्यू के पालन के लिए पूरे देश ने कमर कस ली है;-कोरोना के खिलाफ जंग के तौर पर गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए जनता क‌र्फ्यू की अपील की थी। इस दौरान उन्होंने कहा था कि रविवार को सुबह सात से रात नौ बजे के बीच लोग घरों से नहीं निकलें। पीएम मोदी की अपील पर जनता क‌र्फ्यू के पालन के लिए पूरे देश ने कमर कस ली है।
राज्य सरकारों ने जहां जरूरी दिशानिर्देश जारी किए:-जनता क‌र्फ्यू के मद्देनजर राज्य सरकारों ने जहां जरूरी दिशानिर्देश जारी किए हैं, वहीं तमाम सरकारी व निजी संगठनों ने अपने स्तर पर जनता क‌र्फ्यू को कामयाब बनाने के लिए तैयार है। आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों मसलन चिकित्सा, पुलिस, मीडिया और ऑनलाइन डिलीवरी कर्मियों को उनके काम की अनिवार्यता को देखते हुए जनता क‌र्फ्यू से छूट मिलेगी।
क्या है जनता क‌र्फ्यू?:-क‌र्फ्यू का आशय लोगों को उनके घरों में रोके रहना होता है। आमतौर पर कानून एवं व्यवस्था से जुड़े मामले में प्रशासन की ओर से इसकी घोषणा होती है। इस बार देश को एक महामारी से बचाने के लिए प्रधानमंत्री की अपील पर ऐसा हो रहा है। यह ऐतिहासिक पल है जब जनता स्वेच्छा से क‌र्फ्यू का हिस्सा बनेगी।
इसलिए पड़ी जरूरत;-भारत में कोरोना का संक्रमण अभी स्टेज-2 में है। यह जिस तेजी से फैल रहा है, उसे देखते हुए स्टेज-3 यानी कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा बढ़ता जा रहा है। इस खतरे से बचने में सोशल डिस्टेंसिंग यानी एक-दूसरे से दूर रहने और भीड़भाड़ वाली जगहों पर नहीं जाने को एक अहम कदम माना जा रहा है। ऐसे में लोगों का अपने घरों में रहना इस संक्रमण के चक्र को तोड़ने में मददगार होगा।

About Sting Operation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

themekiller.com