संक्रमण की निशानी हो सकती है सूंघने की क्षमता में गिरावट

sankramanh

लंदन। कोरोना वायरस के संक्रमण की एक नई निशानी का दावा किया जा रहा है। ब्रिटेन के ईएनटी डॉक्टरों ने कुछ रिपोर्ट के हवाले से कहा किया कि सूंघने की क्षमता में गिरावट संक्रमण की निशानी हो सकती है। सूंघने की शक्ति खाने की समस्या को एनोस्मिया कहते हैं।कान, नाक और गला के चिकित्सकों ने अपने सहयोगियों की रिपो‌र्ट्स के हवाले से कहा कि सूंघने में असमर्थता के अलावा अगर कोई दूसरा लक्षण दिखाई नहीं देता है तो ऐसे लोगों को खुद को सात दिनों तक अलग रखना चाहिए। ब्रिटिश राइनोलॉजिकल सोसाइटी की अध्यक्ष प्रोफेसर क्लेयर हॉपकिंस ने कहा, ‘हम वास्तव में जागरुकता फैलाना चाहते हैं कि यह संक्रमण का संकेत हो सकता है और सूंघने की क्षमता खोने वाले लोगों को खुद को अलग कर लेना चाहिए।इससे संक्रमण को फैलने से रोकने और जिंदगियों को बचाने में मदद मिल सकती है।’ क्लेयर और ब्रिटिश ईएनटी ग्रुप के अध्यक्ष निर्मल कुमार ने एक संयुक्त बयान जारी कर चिकित्सकों से आग्रह किया है कि वे सूंघने की क्षमता खो चुके रोगियों के उपचार के दौरान निजी सुरक्षा उपकरणों का इस्तेमाल करें। क्योंकि ब्रिटेन में दो ईएनटी विशेषज्ञ कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जा चुके हैं।
वुहान में कई ईएनटी चिकित्सक आए चपेट में;-क्लेयर के अनुसार, चीन के वुहान शहर से पूर्व में आई खबरों में आगाह किया गया था कि कान, नाक और गला विशेषज्ञों के साथ ही आंख के कई चिकित्सक भी कोरोना वायरस की चपेट में पाए गए। कई की मौत भी हो गई। वुहान से ही कोरोना वायरस की शुरुआत हुई थी।
दक्षिण कोरिया में 30 फीसद मामले;-ब्रिटिश चिकित्सकों ने दूसरे कुछ देशों से आई खबरों के हवाले से बताया कि कई रोगियों ने एनोस्मिया की शिकायत की। दक्षिण कोरिया में दो हजार पीडि़तों में से करीब 30 फीसद ने सूंघने में असमर्थता की शिकायत की थी।

About Sting Operation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

themekiller.com